pollution jpg
सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR-India) की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली की वायु गुणवत्ता 389 AQI के साथ ‘बहुत खराब’ श्रेणी में आ गई।

Delhi Pollution: देश की राजधानी में रविवार सुबह धुंध की चादर छाई रही और हवा की गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ रही। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में पिछले 9 दिनों से प्रदूषण की स्थिति लगातार खराब हो रही है।

सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR-India) की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली की वायु गुणवत्ता 389 AQI के साथ ‘बहुत खराब’ श्रेणी में आ गई।

पीएम 10 का स्तर 393 और पीएम 2.5 का स्तर 236 रहा, दोनों ही सुरक्षित सीमा से काफी अधिक हैं।

दिल्ली में रविवार सुबह तापमान 14 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, न्यूनतम तापमान 10.2 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 25.9 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहा।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार, दिल्ली की वायु गुणवत्ता 500 के पैमाने पर 385 रही। राष्ट्रीय राजधानी के अधिकांश स्थानों पर रविवार सुबह वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ से ‘गंभीर’ दर्ज की गई।

दिल्ली भर में जिन स्थानों पर ‘गंभीर’ AQI दर्ज किया गया उनमें वज़ीरपुर शामिल है जिसका AQI 456 था, जहांगीरपुरी जिसका AQI 450 था, पंजाबी बाग जिसका AQI 445 था, मुंडका जिसका AQI 441 था, अशोक विहार जिसका AQI 434 था, सोनिया विहार जिसका AQI 428 रहा, नेहरू नगर जिसका AQI 425 रहा, रोहिणी जिसका AQI 424 रहा, बुराड़ी क्रॉसिंग जिसका AQI 404 रहा और मंदिर मार्ग जिसका AQI 401 रहा।

नोएडा सहित दिल्ली के आसपास के इलाकों में AQI 344 दर्ज किया गया, ग्रेटर नोएडा में AQI 325 रहा, गाजियाबाद में AQI 338 रहा जबकि फ़रीदाबाद में AQI 378 रहा।

पिछले दो दिनों में, ठंडी उत्तर-पश्चिमी हवाओं के कारण तापमान में गिरावट आई है जिससे धुंध भरी हवा के लिए अनुकूल वातावरण तैयार हुआ है। 23 नवंबर को हवा की दिशा पूर्वी होने की उम्मीद थी।

27 नवंबर को पश्चिमी विक्षोभ के कारण होने वाली बारिश के बाद आने वाले दिनों में औसत तापमान में लगभग 10 डिग्री सेल्सियस की गिरावट होने की उम्मीद है। इसके बाद 1-2 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होगी।

पिछले दो दिनों में उत्तर-पश्चिम की ओर, लेकिन गुरुवार से यह एक बार फिर परिवर्तनशील हो जाएगा, अगले दो दिनों में पूर्वी, दक्षिण-पूर्वी और उत्तर-पूर्वी के बीच उतार-चढ़ाव होगा, जिससे पारे में गिरावट रुक जाएगी।” उन्होंने आगे कहा, ‘पश्चिमी विक्षोभ आएगा 27 नवंबर को दिल्ली में कुछ हिस्सों में बूंदाबांदी होने की संभावना है, जिससे तापमान में और गिरावट आएगी। आईएमडी ने 28 नवंबर को दिल्ली में फिर से धुंध छाने का अनुमान जताया है।

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा, ”पिछले 2-3 दिनों में प्रदूषण का स्तर बढ़ गया था। लेकिन आज हम ‘गंभीर’ श्रेणी से बाहर आ गए हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि आज से हवा की गति बढ़ेगी. यह भी अनुमान लगाया जा रहा है कि हल्की बारिश की भी संभावना है।”

पिछले साल दिल्ली में नवंबर में तीन गंभीर वायु गुणवत्ता वाले दिन दर्ज किए गए थे, जबकि इस महीने में अब तक 10 गंभीर वायु गुणवत्ता वाले दिन दर्ज किए जा चुके हैं।

(एजेंसी इनपुट के साथ)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *