Shardiya Navratri 2023 Day 6Shardiya Navratri 2023 Day 6

Navratri 2023 Day 6 : शास्त्रों के अनुसार मां कात्यायनी बेहद दयालु और कृपालु हैं। अपनी कृपा -दृष्टि अपने भक्तों पर बरसाती रहती हैं। उनकी कृपा से भक्त के सभी दुख और संकट दूर हो जाते हैं। अगर आप भी मां कात्यायनी की पूजा करेंगे तो पूरी होगी मन की मुराद।

शारदीय नवरात्र के छठे दिन जगत की जननी मां कात्यायनी की पूजा की जाती है। इस दिन साधक ‘आज्ञा चक्र’ में रहता है। इस चक्र में रहकर साधक मां की सेवा करते हैं। उनकी कृपा से साधक का जीवन सभी दुख और संकट से बच जाता है।

शुभ मुहूर्त

पंचांग के अनुसार, शारदीय नवरात्र की पंचमी तिथि 20 अक्टूबर को देर रात 12 बजकर 31 मिनट से शुरू होगी और अंग्रेजी कैलेंडर के हिसाब से 11 बजकर 24 मिनट तक रहेगी। इसके बाद सप्तमी तिथि होगी। इसलिए साधक दिन भर माता की पूजा कर सकते हैं।

Shardiya Navratri 2023 Day 6
Shardiya Navratri 2023 Day 6

पूजा विधि

शारदीय नवरात्र के छठे दिन ब्रह्म बेला में उठे। इसके बाद घर की साफ़ सफ़ाई करें। दैनिक कार्यों से मुक्त होने पर गंगाजल से स्नान करें। आसान शब्दों में, स्नान करते समय गंगाजल को पानी में मिलाकर डालें। स्नान-ध्यान करने के बाद आचमन करें। इसी समय नवीनतम लाल रंग की ड्रेस पहनें। अब जल से सूर्य देव को अर्घ्य दें। इसके बाद पूजा गृह की चौकी पर लाल वस्त्र बिछाकर मां की मूर्ति या प्रतिमा रखें। अब मां कात्यानी को इन मंत्रों से पुकारे-

चन्द्रहासोज्ज्वलकरा शार्दूलवरवाहन।
कात्यायनी शुभं दद्याद्देवी दानवघातिनी ॥

या देवी सर्वभूतेषु शक्ति रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:॥

Follow us on Google News | Chandrayan 3
Follow us on Google News

इसके बाद पंचोपचार कर मां कात्यायनी की पूजा करें। लाल रंग माँ को बहुत अच्छा लगता है। इसलिए मां को लाल फूल और फल दें। फल, फूल, दूर्वा, तिल, जौ, अक्षत, पान, सुपारी और दूर्वा भी मां को अर्पित करें। विवाहित स्त्रियां सुख और सौभाग्य के लिए भेंट करें, और अविवाहित जातक जल्दी विवाह करने के लिए भेंट करें। दुर्गा चालीसा, कवच और स्त्रोत इस समय पढ़ें। अंत में मां की आरती करके उसे सुख, समृद्धि और सौभाग्य की कामना करें। मनोकामना पूर्ति करने के लिए दिन भर उपवास करते रहना चाहिए। संध्याकाल में आरती करके फलाहार करें।

यह भी पढ़े

Shardiya Navratri 2023 Day 5: नवरात्र के पांचवें दिन स्कंदमाता की पूजा कैसे करें? जानें शुभ मुहूर्त, पूजन विधि, मंत्र और भोग

By Chandan Kumar

मेरा नाम चंदन कुमार है, मैं पिछले कई सालो से ब्लॉगिंग कर रहा हूँ। मैंने ब्लॉगिंग गूगल ब्लॉगर से साल 2015 में किया था। उसपर मैं पॉलिटिक्स, व्यंग, कविताएँ आदि के बारे में लिखता था। साल 2021 में मैंने यूट्यूब पर मोटों ब्लॉगिंग भी शुरू किया। अभी मैं Newsadda24 के लिए ब्लॉग लिखता हूँ। मैंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से हिन्दी लिटरेचर में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *